C language in hindi.

What is C Language in Hindi और इसके बारे में पूरी जानकारी।

तो नमस्कार दोस्तों,

आज हम बात करेंगे C language in Hindi के बारे में, आज के टाइम में C language के बारे में जानना बहुत ही जरुरी हूँ चूका है।इस article में हमने बताया है की C language in Hindi क्या है उसका History क्या है कब उसका अबिस्कर किया गया था किसने किया था और कहाँ किया था, और भी बहुत कुछ बताया है जैसे की C language का टाइप क्या है, C का importance क्या है और लास्ट में हमने कुछ interesting facts भी लिखा है तो ध्यान से पढ़ियेगा।

तो चलिए बिना time waste किये पॉइंट पे आतें हैं।

 

What is C Language In Hindi? ( C Programming Language क्या है? )

C एक सामान्य प्रयोजन (general-purpose) प्रोग्रामिंग language है जो की बेहद लोकप्रिय, सरल और flexible है। यह एक machine-independent, structured programming language है जिसका उपयोग बहुत सारे applications में बड़े पयमाने पर किया जाता है।

C language जो है न वो basic language है कुछ भी लिखने के लिए Operating System (Windows and many others) से लेकर complex programs तक जैसे की Oracle database, Git, Python interpreter और भी बहुत कुछ।

C programming language को सारे language का भगवान माना जाता है। ऐसा बोला जाता है की अगर आपको C language का बेसिक knowledge है तो आप बाकी के जितने भी प्रोग्रामिंग languages हैं उनको आसानी से समझ सकते हैं जो C का concept यूज़ करतें हैं।

आपको पता है जितने भी बड़े programs हैं जैसे की The UNIX operating system, the C compiler, और जितने भी UNIX application programs हैं सब के सब C में ही लिखा हुआ है। C को professional language बोलने के कई वजह हैं मैंने कुछ का जिक्र किया है :-

  • Easy to learn.
  • Structured Language.
  • It can handle low-level activities.
  • It can be compiled on a variety of computer platforms.

 

History of C Language in Hindi?

जैसा की आप जानते हैं की कोई भी चीज़ स्टार्ट करने से पहले उसके history के जानना जरुरी होता है उसी तरह C जानने से पहले अच्छा होगा की हम थोड़ा C Language के history के बारे में जान लें की कैसे वो start हुआ कैसे वो develop हुआ तो चलिए स्टार्ट करते हैं history of C in hindi.

देखिये सबसे पहला जो Programming Language बनाया गया था उसका नाम है ‘ALGOL’ जो की सन 1960 में develop किया गया था। ‘ALGOL‘ को फादर ऑफ़ आल programming language भी बोला जाता है, इसको European Countries में ज्यादा इस्तेमाल करते हैं।
इसके बाद 1967 में एक और Computer Programming Language को बनाया गया जिसको ‘BCPL’ बोला गया इसका full form है ‘Basic Combined Programming Language’. इसको especially design और develop किया गया था Writing System Software के लिए।

BCPL बनने के ठीक 3 साल बाद 1970 में एक और Programming Language को develop किया गया जिसका नाम ‘B’ रखा गया। ‘B’ के अंदर BCPL के बहुत सारे features मौजूद थे। इस programming language को UNIX operating system का इस्तेमाल कर के bell laboratories में बनाया गया था।

तब जाके 1972 में C Programming Language को डेवलप्ड किया गया था, Dennis Ritchie के द्वारा bell laboratories of AT&T (America Telephone & Telegraph) में जो की USA में स्थापित है। Dennis Ritchie को father of C Language यानि की C language के पिता भी बोला जाता है। C को ‘ALGOL’,’BCPL’,और ‘B’ को मिलाकर बनाया गया था जिसके अंदर इन सारे languages के features मौजूद हैं और C के अंदर और बी बहुत से features आपको मिल जायेंगे जो बाकियों में नहीं मिलेंगे यही कारण है की C बाकियों से अलग और Unique है। C बहुत ही powerful Programming language है जो की UNIX operating system से संबन्धीत है। आज के समय में C बहुत सारे operating system और hardware platforms के अंडर में run करता है।

यह सुनिश्चित करने के लिए की C language standard बने रहेगा, America National Standards Institute (ANSI) ने 1989 में C language के लिए एक Commercial Standard डिफाइन किया, जो की बाद में 1990 में International Standards Organization (ISO) द्वारा approved किया गया था। C language को ‘ANSI C’ भी कहा जाता है।

C को बनाने के पीछे कोई बहुत बड़ी वजह नहीं थी बस इससे पहले जितने भी languages थें जैसे की B, BCPL etc. इनमे बहुत problems थी तो इन्ही को overcome करने के लिए C को develop किया गया था।

ज्यादा अच्छा से समझ में आने के लिए यहाँ पर मैंने लिस्ट बनाई है जिसमे मैंने लिखा है कौन कौन का Language कब develop हुआ था और किसने develop किया था।

Language Developed Year Developed By
ALGO 1960 International Group
BCPL 1967 Martin Richard
B 1970 Ken Thompson
Traditional C 1972 Dennis Ritchie
K & R C 1978 Kernighan & Dennis Ritchie
ANSI C 1989 ANSI Committee
ANSI/ISO C 1990 ISO Committee
C99 1999 Standardization Committee

तो C का history यहाँ पर खतम होता है। वैसे history तो बहुत लम्बा है आपको सिर्फ important पार्ट ही बताया है जो जानना जरुरी है।

 

Structure of C programming Language. (C लैंग्वेज का ढांचा।)

Header #include <stdio.h>
main() int main()

{

Variable declaration               int a=10;
Body               print(“%d”,a );
Return               return();

}

 

Data Types of C Language? ( C Language के प्रकार? )

C language in Hindi.

 

Importance Of C Language in hindi? ( C Language क्यों जरुरी है? )

वैसे तो बहुत Importance है C Programming Language के लेकिन मैंने सिर्फ 5 ही importance का जिक्र ही किया है।

  1. C language को सबसे fundamental और important language माना जाता है पढ़ने के लिए अगर आप programming language का सुरवात करते हो तो , क्युकी बहुत programming language जैसे क Python, C++, Java और etc. को C language का base माना जाता है।
  2. जैसा की आप जानते है की C Programming Language एक Middle Programming Language भी हैं, तो जिसके कारण आप high level language और low level language दोनों के features को इस्तमाल कर सकते हैं, जैसे की Low level language में scripting करना drivers और kernels का और high level language में scripting करना software applications का and etc.
  3. C language एक structured programming language है, जो की complex (जटिल) programs को simpler (सरल) programs में तोड़ने में मदद करता है जिसे हम Function कहते हैं जो की बहुत ही लाभदायक है New programmers के लिए। एक और बात C Language case-sensitive होता है इसमें lowercase और uppercase latters को अलग अलग माना जाता है।
  4. बहुत सारे Data types और Powerful operators के कारण C में लिखा हुआ हर program कई गुना efficient और fast होता है BASIC से जैसे की उदहारण में ले लीजिये की – अगर C में हम कोई program का variable increase करते हैं 0 से 15000 तक तो वो 1 second में हूँ जायेगा, लेकिन वही चीज़ BASIC में 40 से 50 second लगेगा।
  5. एक और C language का छमता या importance है की ये अपने आप को extend (विस्तार) का लेता है। आपको पता है C language का अपना खुद का एक C library है जिसमे बहुत सरे set of function स्टोर्ड हैं। जिसके कारण हम आसानी से function का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसमें हम अपना भी function add कर सकते हैं C standard library में और अपने code को simpler कर सकते हैं।

 

Facts about C Language in hindi?

  • क्या आपको पता है C language को पहले C नहीं बोलते थें। evolution ऑफ़ C language :- ALGO->BCPL->B->K&R C->ANSI C->ANSI/ISO C->C99.
  • क्या आपको पता है C एक मात्र ही ऐसा programming language है जो इतने लम्बे साल तक चला और अभीभी इसका इस्तेमला बहुत ज्यादा किया जाता है।
  • क्या आपको पता है C में total 45 operators हैं जिएको 8 groups में बाटा गया है।
  • क्या आपको पता है C programming language को पहले high level language बोला जाता था।
  • आपको पता है C का लेटेस्ट version C 18 जाओ जो को June 2018 में लॉन्च किया गया था।

 

C Language कहाँ और कैसे सीखें ?

ऐसे तो आप C language को offline mode में मतलब की किसी coaching में जेक सिख सकते है लेकिन दिकत है की कोचिंग में बहुत ज्यादा paisa लग जाता है और उतना अच्छा से पढ़ाया भी नहीं जाता है।

तो मैं ये बोल रहा था की आज का जो समय है न वो technology का है और ऐसा कोई जहीज़ नहीं है जो आपको online न मिल पाए, Internet एक बहुत गहरा कुँवा है जिसमे जिसमे आपको सुब चीज़ मिल जायेगा तो इस टेक्नोलॉजी और इंटरनेट का फायदा लीजिये।

C लैंग्वेज सिखने के लिए आपको कुछ करना नहीं है और कुछ पैसा भी नहीं देना है बस आपको YouTube पे जेक सर्च करना है C Language in Hindi या C programming Language tutorial बस आपको हजारो वीडियो आपके सामने आ जायेंगे उन्हें देख कर आप सिख सकते हैं।

 

Conclusion

उम्मीद है की आपको यह post C language in Hindi आपको पसंद आया होगा और समझ में भी आया होगा। अगर आपको लगता है की कोई पार्ट में गलती है तो आप हमे comment या message के जरिये हमे बता सकतें है हम जल्द से जल्द उसे सुधरने की कोसिस करेंगे।

तो अगर आपको C language इन Hindi जरा सा भी Informative और लाभदायक लगा तो आप इसे पोस्ट को अपने दोस्तों को पास शेयर करना ना भूलें।

धन्यबाद

 

अगर interested हैं तो यह भी पढ़ लें :- Online या Internet से पैसा कैसे कमाए ?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *