Hindi Letter Format | Hindi Letter Writing Format | Formal & Informal

हेलो दोस्तों,

कैसे हैं आप लोग एक बार फिर आप सबका स्वागत है Hindidigital में आज हम बात करेंगे Hindi Letter Writing के बारे में की Hindi Letter Format क्या है , Informal Letter क्या है, Informal Letter कैसे लिख सकतें हैं Informal Hindi Letter Format क्या है। Formal Letter क्या है, Formal Letter कैसे लिख सकतें हैं, Formal Hindi Letter Format क्या है। आपको सब मिलेगा इस आर्टिकल में तो चलिए सुरु करतें हैं बिना किसी देरी के।

 

Hindi Letter Writing

चलिए अब हम पहले जान लेते हैं की letter होता क्या है, Letter एक लिखित संदेश है जिसे कागज पर हस्तलिखित या मुद्रित किया जा सकता है। यह आमतौर पर एक लिफाफे में डाक या डाक के माध्यम से प्राप्तकर्ता को भेजा जाता है, हालांकि इसकी आवश्यकता नहीं है। ऐसा कोई भी संदेश जो डाक के माध्यम से स्थानांतरित किया जाता है, एक पत्र है, दो पक्षों के बीच एक लिखित बातचीत।

अब जब ई-मेल (फायदे और नुकसान) और पाठ और ऐसे अन्य रूप संचार के लिए आदर्श बन गए हैं, तो पत्र लेखन की कला ने एक बैकसीट ले लिया है। हालाँकि, आज भी हमारा बहुत सारा संचार, विशेष रूप से औपचारिक रूप, पत्रों के माध्यम से किया जाता है। चाहे वह नौकरी के लिए कवर लेटर हो, या बैंक आपको रिमाइंडर भेज रहा हो या कॉलेज स्वीकृति पत्र, पत्र अभी भी संचार का एक जरिया है। अब अगर आपको इंग्लिश में समझना है तो इसे पढ़ें। 

 

Types of Letters Letter Writing | पत्र के प्रकार

चलिए अब जानतें हैं की Letter Writting कितने प्रकार के होतें हैं। देखिये आम तौर पे letter दो प्रकार होतें हैं formal letters (औपचारिक पत्र) और informal letters (अनौपचारिक पत्र) ये तो रहें दो जो मुख्य हैं लेकिन और भी प्रकार के Letters होतें हैं जो आपको निचे आर्टिकल में मिलेंगे तो ध्यान से पढियेगा।

  • Formal letters(औपचारिक पत्र) :- इस प्रकार क्ले Letters निश्चित पैटर्न और औपचारिकता (formality) का पालन करते हैं। Formal letters सख्ती से पेशेवर प्रकृति के होते हैं, और सीधे संबंधित मुद्दों को संबोधित करते हैं। अधिकारियों को किसी भी प्रकार का व्यावसायिक पत्र या पत्र इस श्रेणी में आता है।
  • Informal letters (अनौपचारिक पत्र) :- इस प्रकार के letters को व्यक्तिगत पत्र बोलतें हैं यानि की personal letters. इस प्रकार के letters को किसी भी प्रकार का निर्धारित पैटर्न और formality फॉलो करने का जरुरत नहीं पड़ता है। Informal letters में व्यक्तिगत जानकारी होती है या एक लिखित बातचीत होती है। Informal letters आम तौर पर दोस्तों, परिचितों, रिश्तेदारों आदि को लिखे जाते हैं।
  • Business letter (व्यावसायिक पत्र) :- इस प्रकार के Letters को व्यापार संवाददाताओं के बीच लिखा जाता है, इसमें आम तौर पर व्यावसायिक जानकारी (business information) होती है जैसे की quotes, orders, complaints, claims, letters for collection और भी बहुत कुछ। Business letter को हमेशा सख्ती से औपचारिक होते हैं और औपचारिकताओं की संरचना और पैटर्न का पालन करते हैं।
  • Official letter (आधिकारिक पत्र):- इस प्रकार का पत्र कार्यालयों, शाखाओं, अधीनस्थों को आधिकारिक सूचना के बारे में सूचित करने के लिए लिखा जाता है। यह आमतौर पर आधिकारिक जानकारी जैसे नियमों, विनियमों, प्रक्रियाओं, घटनाओं, या ऐसी कोई अन्य जानकारी को रिले करता है। आधिकारिक पत्र भी प्रकृति में औपचारिक होते हैं और कुछ संरचना और मर्यादा का पालन करते हैं।
  • Social letter (सामाजिक पत्र) :- किसी विशेष अवसर के अवसर पर लिखे गए व्यक्तिगत पत्र को सामाजिक पत्र के रूप में जाना जाता है। बधाई पत्र, शोक पत्र, निमंत्रण पत्र आदि सभी सामाजिक पत्र हैं।
  • Circular letter (परिपत्र पत्र) :- एक पत्र जो बड़ी संख्या में लोगों को सूचना की घोषणा करता है वह एक परिपत्र पत्र है। एक ही पत्र लोगों के एक बड़े समूह को कुछ महत्वपूर्ण सूचनाओं जैसे पते में परिवर्तन, प्रबंधन में परिवर्तन, एक साथी की सेवानिवृत्ति आदि के पत्राचार के लिए परिचालित किया जाता है।
  • Employment letter (रोजगार पत्र) :- रोजगार प्रक्रिया के संबंध में कोई पत्र, जैसे कार्यग्रहण पत्र, पदोन्नति पत्र, आवेदन पत्र आदि।

 

यह भी पढ़ें:-

Hindi Letter Format

मैंने निचे आपको दोनों ही प्रकार Formal Letters और Informal Letters के Hindi Letter Format के बारे में बता दिया हूँ वो भी एक्साम्प्ले के साथ तो ध्यान से निचे पढियेगा।

 

Hindi Letter Format

Informal letter | अनौपचारिक पत्र

एक अनौपचारिक पत्र एक गैर-आधिकारिक पत्र है जिसका उपयोग हम आमतौर पर अपने दोस्तों, परिवार या रिश्तेदारों को लिखने के लिए करते हैं। ये पत्र व्यक्तिगत पत्र हैं जिनका उपयोग आधिकारिक उद्देश्यों के लिए नहीं किया जाता है। ऐसे कई कारण हो सकते हैं जिनकी वजह से हम अपने परिवार और दोस्तों को ये पत्र लिखते हैं। उदाहरण के लिए, यदि हम उन्हें स्कूल या कॉलेज में अपनी उपलब्धि के बारे में सूचित करना चाहते हैं, तो हम उन्हें अपनी निजी खबर फैलाने के लिए एक पत्र लिखते हैं।

 

Informal Letter Examples | अनौपचारिक पत्र उदाहरण

अनौपचारिक पत्र लिखने के लिए कई विषय हो सकते हैं। आइए यहां देखें उनमें से कुछ:

  • एक समारोह के लिए एक दोस्त को आमंत्रित करना कहें जन्मदिन के लिए
  • किसी मित्र को यात्रा या छुट्टी पर बुलाना
  • अपने द्वारा की गई गलतियों के लिए क्षमा मांगना या किसी से क्षमा मांगना
  • किसी मित्र को उसकी सफलता या उपलब्धि के लिए बधाई देना
  • सिर्फ एक व्यक्ति की भलाई के लिए पूछने के लिए लिख रहा हूँ
  • शादी का निमंत्रण
  • किसी से मदद मांगना
  • परिवार या दोस्तों में किसी के निधन की सूचना देना

 

Informal letter format in Hindi | informal letter in Hindi (अनौपचारिक पत्र प्रारूप हिंदी में)

[Address of the Sender] / [प्रेषक का पता]

[
Date: / दिनांक:

[

Dear (name of person) / प्रिय (व्यक्ति का नाम)

[

Body of the letter: / पत्र का मुख्य भाग:

Paragraph 1: व्यक्ति की भलाई के लिए पूछें

Paragraph 2: पत्र लिखने का मुख्य कारण

Paragraph 3: निष्कर्ष और पत्र का अंत

[

Yours lovingly, / आपका प्यार से,

Name of sender / प्रेषक का नाम

 

Example of Informal Letter | अनौपचारिक पत्र का उदाहरण

150, सगुन अपार्टमेंट

[

पाटलिपुत्र, पटना 801503

[

30 मई, 2021

[

प्रिय प्रिया

आप से मिले हुआ बहुत दिन हो गए हैं। कहां हैं आप इतने दिनों से? मुझे आशा है कि यह पत्र आपको आपके स्वास्थ्य के लिए सबसे अच्छा मिलेगा।

जैसे-जैसे गर्मियां आ रही हैं, मैं सोच रहा था कि क्या हम पटना में अपने घर पर एक साथ गर्मियों की छुट्टी बिता सकते हैं। मैं आपको अपने सभी दोस्तों और करीबी रिश्तेदारों से मिलवाता हूं। मैं तुम्हें एक शहर का दौरा भी दूंगा। हम दोपहर में पल के ऊपर कुछ क्वालिटी टाइम बिताएंगे। मैंने आपने दोस्तों से सुना है की वहां पर बहुत अच्छी हवा चलती है और वहां से पटना सहर भी बहुत सूंदर दीखता है।

मैं आपके बारे में सोचकर भी उत्साहित हूं और मैं इतने लंबे समय के बाद गर्मियों में एक साथ बिता रहा हूं। मुझे आपको बहुत सी बातें बतानी हैं और आपसे भी यही उम्मीद है। चाची और चाचा को मेरा प्रणाम!

[

आपसे मिलने की उम्मीद है।

[

आपका प्यार से

करण

 

Hindi Letter Format

Formal Letter | औपचारिक पत्र

एक औपचारिक पत्र एक व्यवस्थित और पारंपरिक भाषा में लिखा जाता है और एक विशिष्ट निर्धारित प्रारूप का पालन करता है। ये पत्र केवल आधिकारिक उद्देश्यों के लिए लिखे जाते हैं, जैसे कि प्रबंधक को पत्र लिखना, मानव संसाधन प्रबंधक को, किसी कर्मचारी को, कॉलेज या स्कूल के प्रधानाचार्य को, शिक्षक को, आदि। लेकिन हम औपचारिक पत्रों का उपयोग नहीं करते हैं। व्यक्तिगत उपयोग जैसे कि उन्हें हमारे परिवार, रिश्तेदारों या दोस्तों को लिखना।

 

How to Write a Formal Letter? औपचारिक पत्र कैसे लिखें?

औपचारिक पत्र लिखने के लिए नीचे दिए गए सुझावों का पालन करें:

  • संबंधित व्यक्ति को ठीक से संबोधित करें या अभिवादन करें जैसे प्रिय महोदय/मैडम
  • हमेशा पत्र लिखने के विषय का उल्लेख करें
  • अपने पत्र में संक्षिप्त रहें। पहले पैराग्राफ में ही पत्र लिखने का कारण लिखें। पत्र को ज्यादा न खींचे।
  • पत्र का लहजा बहुत विनम्र होना चाहिए न कि कठोर
  • उचित प्रारूप में लिखें और पत्र की प्रस्तुति का ध्यान रखें
  • पता और तारीख का सही उल्लेख करें।
  • प्राप्तकर्ता के नाम और पदनाम का सही उल्लेख करें
  • पत्र का समापन आभार के साथ होना चाहिए। पत्र पर विचार करने के लिए “धन्यवाद” का प्रयोग करें और फिर अंत में अपने नाम और हस्ताक्षर के साथ “ईमानदारी से या सही मायने में आपका” का उल्लेख करें।

 

Format of Formal letter in Hindi (औपचारिक पत्र का प्रारूप हिंदी में)

Name of the sender / प्रेषक का नाम
Address / पता
Date / दिनांक
To / प्रति
Name of the Recipient / प्राप्तकर्ता का नाम
Designation / पद
Company Name / कंपनी का नाम
Address / पता

[

Saluttation (Dear Sir/Madam) / नमस्कार (प्रिय महोदय/मैडम)
Subject / विषय
Boday of the Letter / पत्र का शरीर

 

(पत्र के पीछे के कारण सहित 2-3 अनुच्छेद लिखें। पत्र को ज्यादा खींचे बिना संक्षिप्त रखना सुनिश्चित करें)

आपके विचार के लिए धन्यवाद। आपकी सकारात्मक प्रतिक्रिया की प्रतीक्षा में।

[

Your Sincerely / भवदीय
Name / नाम
Signature / हस्ताक्षर

Example of Formal Letter | औपचारिक पत्र का उदाहरण

ए-14 यादव सोसायटी,
चांदमारी रोड, दानापुर कैंट,
पटना 801503
07 नवंबर 2021
प्रति,
प्रधान संपादक
दैनिक बसखर, मेन रोड
पटना 800020

[

विषय:- सड़कों में गड्ढा

[

श्रीमान,

[

आदर सहित, मैं आपको सूचित करना चाहूंगा कि सड़कों में छेद के कारण हम अपने क्षेत्र में बहुत कठिनाइयों का सामना कर रहे हैं। कुछ दिन पहले ही बारिश का मौसम शुरू हो चुका है और गड्ढे हमारी परेशानी बढ़ा रहे हैं।

विशेष रूप से बाहर खेलने वाले बच्चों के साथ गड्ढों वाली सड़कों पर वाहन चलाते समय लोगों के चोटिल होने का जोखिम होता है। राहगीरों के लिए भी सड़क पर चलना मुश्किल हो गया है।

इसलिए मैं आपके समाचार पत्र की सहायता से संबंधित अधिकारियों का ध्यान आकर्षित करना चाहता हूं। उम्मीद है, आप उनका ध्यान आकर्षित करने और इस मामले को जल्द से जल्द हल करने में हमारी मदद करने में सक्षम होंगे।

[

आपको धन्यवाद

[

भवदीय
नाम
हस्ताक्षर

 

Conclusion | अंतिम बातें 

तो दोस्तों उम्मीद करता हूँ यह पोस्ट (Hindi Letter Format ) पूरा जरूर पढ़ा होगा। और यह भी उम्मीद करतें हैं की आपको यह पोस्ट informative और अच्छा भी लगा होगा. हमारा हमेशा से यही मोटो रहा है की हम अपने उसेर्स को सही और पॉइंट to पॉइंट इनफार्मेशन दे ताकि उसेर्स को ज्यादा अच्छा से समझ आये। तो Hindi Letter Format इससे जुड़ा हर प्रॉब्लम आपको समफ्त हो गया होगा।

और हाँ अगर आपको इस पोस्ट में कही भी कोई भी प्रॉब्लम या मिस्टेक लगे तो आप हमे बेजिझक मैसेज या कमेंट कर के बता सकतें हैं हम जल्द से जल्द एक्शन लेंगे और उसे सही कर देंगे। अंत में यही कहूंगा की अगर आपको यह पोस्ट Hindi Letter Format वाकई में अच्छा लगा है तो आप इसे शेयर करना ना भूलें, क्युकी यह यह सबके पास शेयर करना बहुत जरुरी है।

धन्यबाद

 

Leave a Comment