संज्ञा किसे कहते हैं? संज्ञा के प्रकार कितने है। (Sangya Kise Kahate Hain).

हेलो दोस्तों,

तो hindidigital में आपका सब का फिर से स्वागत है। तो आज हम जानेंगे एक ऐसे टॉपिक के बारे में जो की हिंदी और English Grammar के लिए बहुत ही जरुरी है और उस टॉपिक का नाम है (Sangya Kise Kahate Hain)संज्ञा किसे कहते हैं।

मुझे पता है की आपको sangya kise kahate hain इसके बारे में कुछ पता नहीं है तभी तो आप इसे सर्च कर यहाँ अये हैं। हम इसे article में संज्ञा के बारे में पूरी जानकारी देंगे जैसे की sangya kise kahate hain, उसके संज्ञा के उदहारण क्या हैं , sangya ke bhed और भी बहुत कुछ के बारे में तो article को पूरा जरूर पढ़ें।

चलिए सुरु करते हैं बिना किसी देरी के।

Sangya Kise Kahate Hain? (संज्ञा किसे कहतें हैं ?)

संज्ञा को इंग्लिश में Noun बोला जाता है। किसी भी व्यक्ति, स्थान, वस्तु आदि को संज्ञा कहते हैं। चलिए थोड़ा अच्छा से समझता हूँ, दुनिया में जितने भी चीज़ हैं मान लीजिये की किसी का नाम , कोई वस्तु या फिर कोई स्थान सब के सब संज्ञा कहलातें हैं। जैसे की अब देख लीजिये की राम (RAM) यह एक नाम है तो यह संज्ञा है और मान लीजिये की टेबल (Table) यह एक वस्तु है तो ये संज्ञा है और मान लीजिये की दिल्ली (Delhi) यह एक स्थान है तो यह एक संज्ञा है। उम्मीद है अब तक आप Sangya Kise Kahate Hain समज गए होंगे।

अब कुछ संज्ञा के उदहरण देख लीजिये तब और अच्छे से समज आ जायेगा।

  • राम ट्रैन से मुंबई आ रहा है।
  • यह मेरा कुत्ता है।
  • टेबल के ऊपर मेरा लैपटॉप है।
  • जवानी बहुत फुर्तीला होता है।

यह भी पढ़ें:- Tense क्या हैं और कितने प्रकार के होतें हैं। 

Sangya ke kitne bhed hote hain?(Sangya ke bhed)

संज्ञा के पाँच भेद होतें हैं।

  1. व्यक्ति वाचक संज्ञा (Proper Noun)
  2. जाति वाचक संज्ञा (Common Noun)
  3. भाव वाचक संज्ञा (Abstract Noun)
  4. समुदाय वाचक संज्ञा (Collective Noun)
  5. द्रव्य वाचक संज्ञा (Material Noun)

(1) Vyakti Vachak Sangya

व्यक्ति वाचक संज्ञा :- किसी भी विशेष व्यक्ति, स्थान, या वस्तु के नाम का बोध कराने वाले संज्ञा को व्यक्तिवाचक संज्ञा बोलते हैं। जैसे की :- राम, मोहन, बिहार, रांची, मुम्बई etc.

उदारहण  (Example)

  • मोहन बाहर खेल रहा है।
  • राम फुट बॉलर है।
  • मैं मुंबई में रहता हूँ।
  • चाणक्य एक बहुत बड़े ज्ञानी थें।

 

(2) Jati Vachak Sangya

जाति वाचक संज्ञा :- जो सब्द किसी व्यक्ति, स्थान, या वस्तु का संपूर्ण जाती का बोध कराता है, उस सब्द को जाती वाचक संज्ञा कहते हैं। जैसे की :- आदमी, औरत, जानवर, देश, सहर  etc

उदारहण  (Example)

  • कॉलेज में बच्चे पढ़तें हैं।
  • फुट पाथ पर लोग चलतें हैं।
  • लोमड़ी शेर से डरती है।
  • मुझे घूमना पसंद है।

 

(3) Vhav Vachak Sangya 

भाव वाचक संज्ञा :- जो सब्द किसी व्यक्ति या वस्तु का दशा, भाव या अवस्था का बोध कराता हो उसे भाव वाचक संज्ञा बोलतें हैं। जैसे की :- गरीब, अमीर, मोटापा, बचपन, etc.

उदारहण  (Example)

  • मेरा दोस्त अमीर है।
  • वह मोटापा का सीकर है।
  • राम और श्याम दोनों दोस्त हैं।
  • मेरा बचपन बहुत खेलकूद में बिता है।

 

(4) Samudaye Vachak Sangya

समुदाय वाचक संज्ञा :- जो सब्द से किसी व्यक्ति या वस्तु का समूह का बोध होता है, उसे हम समूह वाचक या समुदाय वाचक संज्ञा बोलतें हैं। जैसे की :- टीम, सेना, दर्जन, सभा, भीड़, etc.

उदारहण  (Example)

  • भारतीय सेना में बहुत सैनिक हैं।
  • फुटबॉल टीम में मैच जीता।
  • वहाँ कुछ विद्याथी दाल बैठें हैं।
  • मेरे परिवार में 30 लोग हैं।

 

(5) Dravya Vachak Sangya

द्रव्य वाचक संज्ञा :- जो संज्ञा सब्द से किसी ठोस, तरल, या द्रव्य का बोध होता हो उसे हम द्रव्य वाचक संज्ञा बोलतें हैं। जैसे की:– दाल, दूध, दही, चावल, etc.

उदारहण  (Example)

  • मुझे दूध पीना है।
  • मार्किट से फल लेकर आवो।
  • मुझे जूता खरीदना है।
  • मुझे सोना का हार चाहिए।

 

Conclusion

तो उम्मीद करता हूँ की आपको यह पोस्ट जो की sangya kise kahate hain के बारे में है अच्छा और informative लगा होगा। अगर आपको इस पोस्ट में कुछ गलत या कुछ परेसानी हो तो कमेंट या मैसेज के जरिये बता सकतें है। इस पोस्ट को अपने लोगों के साथ share करना न भूलियेगा।

धन्यबाद

 

4 thoughts on “संज्ञा किसे कहते हैं? संज्ञा के प्रकार कितने है। (Sangya Kise Kahate Hain).”

Leave a Comment