SEO in hindi

SEO क्या है और कैसे काम करता है। What Is SEO in Hindi.

हेलो दोस्तों,

आज हम बात करेंगे SEO in hindi के बारे में। अगर आपको SEO( Search Engine Optimization) के बारे में पूरी जानकारी चाइये तो आप बिलकुल सही पेज पर लैंड किये हैं। SEO एक बहुत ही important टॉपिक है, ऐसा समज लीजिये की अगर आपको इस ऑनलाइन या इस Digital की दुनिये में Success चाहिए तो आपको SEO का आना बहुत जरुरी है।

 

यह भी पढ़े:- Online Paise Kaise Kamaye in 2020 | $2000 Per Month.

 

तो चलिए सुरु करते है बिना किसी देरी के।

सबसे पहले

What is SEO in Hindi? (SEO क्या है ?) SEO kya hai.

तो भाइयों SEO का पूरा नाम Search Engine Optimization है। समज लीजिये की अगर आपको अपने Post , Page या Website को search Engine जैसे की Google, Bing, या Yahoo में Rank करना है तो आपको SEO के तकनीक इस्तेमाल करना ही होगा।

SEO का मतलब होता है की आप अपनी website की quality और quantity को (improve) कर रहे हैं, ताकि और traffic आए आपके site पर, इसको आसान भाषा में समझते है इस मतलब होता है की आप अपनी site को और अच्छा बना रहे है ताकि आपका site और लोगों तक पहुंचे।

अब आप practical way में समझिये, आप google में कोई भी keyword search करिये आपको बहुत सारा result यानि की बहुत सारा website मिलेगा उस keyword से related, तो बस समज लीजिये की जिस website में जितना अच्छा SEO का इस्तेमाल हुआ है वह उस rank पे rank कर रहा है। नंबर 1 वाला site सबसे अच्छा SEO optimized है इसलिए वह rank 1 पर है। चलिए अब आप समज गए होंगे की SEO किसे कहते है(what is SEO in hindi).

 

How SEO Works? (SEO काम कैसे करता है।)

SEO काम कैसे करता है इसको समझना बहुत ही आसान है, देखिये सबसे पहले आप कोई post लिखते है लिखने के बाद उसको आप google में submit करते है, यहाँ से SEO का काम चालू होता है जैसे ही आप उस post को submit करियेगा Google का crawler उसको जाँचेगा और उसको समझने की कोसिस करेगा की आपने जो article submit किया है वह किस बारे में है, यह टेस्ट पार करने के बाद Search Engine automatically इस post को index करेगा और index होने के बाद फिर Google अपना Algorithms का इस्तेमाल करके उस पोस्ट को Rank करेगा, की इस post को google के किस पेज पर rank करना चाइये यह सब Google Algorithms decide करता है, और फिर क्या उसके बाद वह पोस्ट search engine में display होने लगेगा बस ऐसे ही तो SEO काम करता है।

चलिए इसको पिक्चर की भाषा में समझते है।

SEO in hindi.
तो अब तक आप लोगों को समज में आ ही गया होगा की SEO का कैसे करता है।

 

Why SEO is Important? (SEO क्यू जरुरी है।)

SEO या search engine optimization एक website के लिए बहुत ही तरीको से important है। मैं सब तो नहीं बता पाउँगा लेकिन हाँ कुछ कुछ जो सबसे important है वह सब निचे point wise बताता हूँ।

  • Organic Traffic:- अगर आप अच्छे से SEO का इस्तेमाल करेंगे तो ये आपके website में organic traffic बढ़ाने में बहुत मदद करेगा। और आपको तो पता ही होगा की जितना ज्यादा traffic उतना ज्यादा कमाई।
  • User Experience:- SEO सिर्फ traffic ही नहीं बढ़ाएगा, ये आपको आपके website को user friendly भी बनाने में मदद करेगा। user friendly बोले तो एकदम साफ़ सुथरा ताकि लोग जब आपकी साइट पर आए तो वो आपके site को देख कर back ना चल जाये।
  • Beat Competitors:- SEO का सबसे अच्छा बात हमको लगता है की ये आपको आपके competitors को best (हारने) में मदद करता है।

 

Types of SEO. (SEO कितने प्रकार के है)

SEO तीन प्रकार के होते है।
1.) On-Page SEO
2.) Off-Page SEO

1.) On-Page SEO in hindi

On-Page SEO का सीधा मतलब आपके Website के जो ऊपर वाला पार्ट है उससे होता है। ऐसा समज लीजिये की बिना On-Page SEO किये कोई भी Website कभी भी रैंक नहीं कर सकती, ये इतना Important है।

On-Page SEO एक ऐसा तरीका SEO का जिसकी मदद से आप अपने सरे Web Pages को Optimize कर सकते है, जिससे उनकी Google में Ranking इन्क्रेसे होती है।

On-Page SEO का सीधा सम्बन्ध आपके website के ऊपरी भाग से होता है जैसे की आपका website speed, Title tag, Description, Content, और keyword का अच्छे से इस्तेमाल करना होता है।

 

On-Page SEO कैसे करे?

मैंने यहाँ कुछ On-Page SEO से रिलेटेड बहुत ही Important तरीके शेयर किये है, जिसको आप अपने website में इस्तेमाल करिये और फिर देखिये कैसे आपका वेबसाइट search engine में rank होता है।

 

1.) valuable and Unique Content (कंटेंट )

इसको थोड़ा आसान भाषा में समझते है, लोग आपके site पर क्यू आएंगे ? अरे क्यूकी लोगों को अपने question का answer चाहिए या फिर कोई information चाहिए जिसके बारे में आपने लिखा है, तो वही में बोलना चाहता हूँ की आप अपने content को इतना अच्छे और Fully detailed तरीका से लिखें की लोग जब पढ़े तो बोले की अरे हाँ भाई पढ़ कर मज़ा आ गया जो मुझे जो चाइये था वो सुब इस कंटेंट में था।

इससे यह फायदा होगा की लोगों का using experience अच्छा होगा और लोग बार बार आपके साइट पर आएंगे, अगर आपके पोस्ट से उनको फायदा होगा तो लोग अपने दोस्तों को भी share करेंगे जिससे आपका traffic बढेगा और traffic बढा income बढेगा।

और हाँ एक और बात, आपको अपने website या blog पर unique content डालना है, कहने का मतलब था की किसी और के website से कॉपी कर के मत लिखिएगा नहीं तो copy right का issue आएगा फिर आपका साइट कभी भी rank नहीं करेगा। तो याद रखियेगा content आपको हमेशा 100% unique ही लिखना है।

मैं आपको कुछ unique content लिखने का तरीका बताता हूँ, मान लीजिये की अपने एक topic सेलेक्ट किया तो पहले आप इस टॉपिक को Google में search कर के देख लीजिये की बाकी लोगों ने इस topic से रिलेटेड क्या क्या लिखा है और कैसे कैसे लिखा है, अपने सिलेक्टेड टॉपिक के ऊपर पूरा research करिये और पता कीजिये की लोग इस टॉपिक से रिलेटेड क्या क्या question सर्च करते है google पर, और फिर सबको अच्छे से analyse करके एक शानदार जबरदस्त कंटेंट लिखिए।

 

2.) Website Speed

Website की speed एक आएसा SEO का पार्ट है जिसको बहोत लोग ignore करते हैं, लेकिन ये किसी भी website की ranking increase करने में बहुत ही important role प्ले करता है। अगर आपका site या blog 2sec के अंदर नहीं ओपन हुआ तो user पेज को बैक कर के किसी दुसरे से साइट पैर चल जायेगा और अगर ये ऐसे ही चलता रहा तो Google को पता चल जायेगा की ये साइट उतना अच्छा नहीं है और फिर आपका site की ranking decrease होने से कोई नहीं रोक सकता, क्यूकी गूगल अपने users को हमेशा best result ही देता है।

चलिए इसको अच्छे से समझते है, मान लीजिये की आप कोई चीज़ Google पर सर्च किये और अपने किसी वेबसाइट पर click किया और अगर वो site open होने में ज्यादा time लेगा तो आप उसे back कर के किसी दूसरे के site पर जायेंगे की नहीं जायेंगे तो सोचिये की अगर आप ऐसा कर सकते है तो कोई और क्यू नहीं, बस यही बताना था की आप अपना साइट का loading time ज्यादा से ज्यादा 2second तक रखें उससे ज्यादा नहीं।

मैंने यहाँ कुछ tips बताया है website speed से रिलेटेड एक बार पढ़ लें।

  • 1.) आपको अपने blog या site पर ज्यादा heavy theme नहीं लगाना है, आप बहुत ही lightweight attractive theme का ही प्रयोग करे जैसे की GeneratePress या Astra.
  • 2.) अगर आप अपने blog पर image का प्रयोग क्र रहे है तो कोशिस करे की image का size ज्यादा न हो, क्यूकी अगर image का size ज्यादा होगा तो आपका site का loading time भी ज्यादा हूँ जायेगा जो की ठीक नहीं है। आप अपने image तो डालने से पहले उसको compress कर ले, और image के size को ज्यादा से ज्यादा 100KB तक हे रखे।
  • 3.) कुछ Plugins इस्तमाल करे जैसे की WP Total cache, Smush, WP Fastest Cache, WP-Optimize ये सब plugins speed बढ़ाने में मदद करते है।

 

3.) Linking

Linking भी बहुत important रोल प्ले करता है SEO point ऑफ़ view से, इससे भी आपका google में ranking improve होता है। Link दो प्रकार के होते है Internal Link और External Link चलिए जानते है इसके बारे में।

  • Internal Linking:- Internal Linking का मतलब होता है किसी एक Post को किसी दुसरे Related Post से जोड़े रखना। इससे फायदा होगा की आपके दोनों posts को google में रैंक होने में मदद मिलेगी।चाइये इसको थोड़ा आसान भासा में समझते है, मान लीजिये की आपने दो posts लिखें जिसमे से पहले वाला google पर rank हूँ गया तो, तो अब आपको क्या करना है की दूसरे वाले post को पहले वाले post से connect कर देना है जिसे SEO के भासा में internal linking बोलते है इससे होगा क्या की जब user पहले वाले पोस्ट पर land करेंगे तो वो दूसरे वाले post में भी जा सकते है इससे आपका दूसरे वाले पोस्ट पर भी traffic आना चालू हूँ जायेगा। क्यू है न फायदे की चीज़?
  • Outbound Link:- Outbound Link को external link भी बोलते है, इसका मतलब होता है की user जब आपकी website पर आएंगे और जैसी ही इस लिंक पर click करेंगे वो आपकी website से किसी और की website पर चल जायेंगे। ये बिलकुल internal link की तरह ही है बस उसमे होता है की user उसको click करते है तो वो आपके ही की website के की दूसरे पेज में चल जाते है, मगर इसमें वो किसी और की website में चल जाते है। SEO के हिसाब आपको एक न एक external link लगना जरुरी है। ज्यादा जानकारी के लिए इस्पे click करे।

 

4.) Title Tag

Title tag

Title Tag भी समज लीजिये की ये भी बहुत ही important role प्ले करता है SEO के फील्ड में। जब आप कुछ Google में सर्च करता है और blue कलर में जो दीखता है न उसी के title tag बोलते है। आप अपने title tag को इतना अच्छे से लिखिए की जब भी कोई user उसे पढ़े तो वो आपके title को click कर ही दे। अच्छा लिखने का मतलब की अपने title को attractive, SEO Optimized और eye catchy बनाये तभी तो लोग click करेंगे।

यहाँ कुछ तरीके है SEO Optimized title tag लिखने के ध्यान से पढ़े।

  • Title Tag में आपका main Focus Keyword होना एकदम जरुरी है।
  • कोसिस करिये की अपने title tag में numbers डाले, क्यूकी एक survey के हिसाब से title tag में numbers ज्यादा attractive(आकर्षित) लगता है और आकर्षित चीज़ो पर लोग ज्यादा click करते है।
  • और ये 65 words से ज्यादा नहीं होना चाहिए।
  • अगर आप special characters करते है title tag में तो ये और भी ज्यादा attractive लगेगा और आपको तो पता ही है attractive title tag के बारे में।

 

5.) Post URL

post URL

Post URL का मतलब होता है की (post human-readable text) सीधा सीधा समज लीजिये की आपके post नाम को post URL बोलते है। इसे आप जितना छोटा रखेंगे आपके लिए उतना अच्छा होगा।

कुछ बातें है जो post URL लिखतें वक़्त ध्यान में रखे :-

  • आपका Post URL 60 word से ज्यादा नहीं होना चाहिए।
  • Post URL में आपका मेन focus keyword होना चाहिए।
  • कोसिस करे की post URL में hyphens(-) का इस्तेमाल करे ये आपके लिए ज्यादा फायदे मन होगा।
  • और हाँ इसमें कभी भी capital latters का इस्तेमाल न करे।

 

6.) Meta Descriptions

description

Meta description भी SEO का बहुत ही इम्पोर्टेन्ट पार्ट है, Meta Description बिलकुल निचे होता है post URL के, यह है छोटा सा paragraph होता है जिसको पढ़ कर users को पता चलता है की ये post किस बारे में है। याद रखियेगा की आपको हमेसा बहुत हे शानदार और जबरजस्त Meta Description लिखना है।

अच्छा Meta Description लिखने के कुछ तरिके ध्यान से पढ़े:-

  • आपका Meta Description 150 -160 word से ज्यादा नहीं होना चाइये।
  • ध्यान में रखे की जब भी आप किसी post का description लिख रहे है तो उसमे आपका main focus keyword उसमे होना चाइये।
  • और हाँ आपका description duplicate होना नहीं चाइये, मतलब की किसी और का meta description मात छाप लीजियेगा।

 

7.) Alt Tag

SEO in hindi

आप अपने article में images का इस्तमाल जरूर करे क्यूकी images इस्तमाल करने के दो फायदे है पहला अगर आपकी images गूगल पर rank कर गई तो वहाँ से भी आपको बहुत सारा traffic मिलेगा और दूसरा की लोग आपके article में images देखेंगे तो और attract होंगे तो वो ज्यादा से ज्यादा समय आपके साइट पर बिताएंगे।

तो वही मैं बताना चाहता हूँ की जब भी आप image अपलोड करेंगे तो आपको ALT TAG का option मिलेगा उसे आप जरूर fill करे, SEO में मदद मिलता है, और हाँ उसमे tag में अपना main focus keyword डालना न भूले।

 

8.) Navigation

होता है website में इधर उधर जाना। इसको आप जितना simple और clear cut रखेंगे उतना ही आपके लिए फायदेमंद होगा क्यूकी आप ही सोचिये की अगर लोगों को आपके साइट में इस page से उस page में जाने में परेशानी होगी तो वो वापस क्यू आएंगे। तो इसलिए navigation हमेसा simple ही रखना है।

 

2.) Off-Page SEO in hindi

Off-Page SEO एक ऐसा पार्ट है जो आपके website के पीछे से सम्बंधित है, यह direct आपके website पर नहीं होता। सीधा सीधा समज लीजिये की आप अपने website के पीछे काम कर रहे है अपने site या blog पर traffic लेन के लिए।

Off-Page SEO करने के बहुत तरीके है मैं यहाँ उन में से कुछ के बारे में लिख देता हूँ की कैसे आप अपने website के पीछे काम कर के traffic ला सकते है। 

 

1.) Backlinks

Backlink एक बहुत हे popular तरीका है traffic generate करने का। backlink का मतलब होता है की आप किसी और के website पर अपने website का लिंक छोड़ दिए ताकि लोग अगर उसके site पर आए और interested हो तो उस लिंक पर click कर के आपके साइट पर भी आ जाये इससे आपके साइट का भी traffic increase होगा।

कोसिस करे की जब आप backlink लें तो किसी अच्छा website से लें, क्यूकी अगर आपकी website की लिंक जितने अच्छे website पर होंगी आपके site के लिए उतना ही अच्छा होगा, और backlink से आपके साइट की Domain Authority भी बढ़ती है, जो की ranking के लिए बहुत ही लाभ दायक होता है।

 

2.) Social Sharing Platforms 

कोसिस करे की जितना भी social platforms है सब पर आप अपने website या blog का page या account बनाये, और उस पर अपने articles को share करे क्यूकी social sharing platforms से बहुत बड़े बड़े bloggers millions में traffic generate करते है।

 

3.) Guest Posting

guest posting भी एक बहुत सही और बहुत popular तरीका है traffic generate करने का। इसमें करना कुछ नहीं होता है बस आपको अपने niche से रिलेटेड website पर जाकर guest post करनी है, जहाँ से आपको एक do-follow link मिल जायेगा।

 

Conclusion – SEO in hindi

उम्मीद करता हूँ आप लोगों को की SEO क्या है? (SEO in Hindi) समज में आ गया होगा। अगर आपलोग को यह post SEO in Hindi पढ़ क्र वाकई में मज़ा और अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के पास शेयर करना न भूले क्यूकी अगर आपने share किया तो मुझे भी अच्छा लगेगा।

और हाँ अगर कोई चीज़ इसमें गलत हो या कुछ छूट गया हो आप comment भी कर सकते है नहीं तो मुझे follow कर के message भी कर सकते है।

धनयबाद (Thank You).

 

8 thoughts on “SEO क्या है और कैसे काम करता है। What Is SEO in Hindi.”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *