Vivo kaha ki company hai, इसका फाउंडर और सीईओ कौन है?

हेलो दोस्तों,

एक बार फिर आप सब का स्वागत है Hindidigital में, आज हम बात करेंगे Vivo के बारे में की Vivo Kaha Ki Company Hai, इसका मालिक कौन है, और इसका इंडिया CEO कौन है और भी बहुत कुछ आप पूरा पढ़ाइये तो सही सब पता चल जायेगा। वीवो के बारे में कौन नहीं जनता है आज के टाइम में इंडिया में ऐसा कोई नहीं होगा जिसने वीवो का फ़ोन इस्तमाल नहीं किया होगा, लेकिन Vivo kaha ki company hai, इसका मालिक कौन है, इसका हिस्ट्री क्या है यह सब बहुत कम लोगों को ही पता होता है, इसलिए आज हम इसी टॉपिक पे बात करेंगे।

तो चलिए सुरु करतें हैं बिना किसी देरी के।

 

Table of Contents

Vivo Kaha ki company hai. (Vivo किस देश की कंपनी है?)

Vivo या Vivo Communication Technology Co.Ltd एक चीन बेस्ड टेक कंपनी है, जिसको BBK electronics ओन करता है, इसका मतलब की BBK electronics इनका पेरेंट्स कंपनी है और यह सब कंपनी जैसे की Oppo, Vivo, Oneplus और Realme सब के सब इस BBK electronics के sub-brand हैं, जिसका headquarter Dongguan, Guangdong, China में है। यह एक मल्टीनेशनल टेक कंपनी है जो की Smartphones और उसका accessories को डिज़ाइन और manufacture करता है और पुरे दुनिया में सप्लाइज भी करता है।

यह भी पढ़ें:- 

 

Vivo Ka Malik Kon Hai? (Vivo का मालिक कौन है?)

vivo kaha ki company hai

Vivo कंपनी का मालिक यानि की फाउंडर का नाम शेन वे (Shen Wei) है जो की एक चीनी व्यक्ति हैं। आप उनका फोटो भी ऊपर देख सकतें हैं मैं लगाया है। Shen Wei के पास अभी दो जॉब्स हैं पहला फाउंडर हैं वीवो के और दूसरा CEO और President हैं Vivo Communication Technology के।

यह भी पढ़ें:-

 

Vivo India Ka CEO kon Hai. (Vivo का CEO कौन है?)

अब अगर Vivo इंडिया की बात करे तो Vivo इंडिया के डायरेक्टर हैं निपुण मर्या (Nipun Marya), ये वीवो इंडिया के डायरेक्टर हैं और ब्रांड स्ट्रेटेजी हैं। अगर Vivo india के CEO की बात करें तो वीवो इंडिया के सीईओ का नाम है जेरोम चेन (Jerom Chen) जो की चीन के हैं।

 

Vivo Ki History. (Vivo कंपनी की हिस्ट्री?)

अगर Vivo कंपनी के इतिहास के बारे में बात करें तो, वीवो 2009 बना था। देखा जाये तो वीवो 2009 में ही बन गया था लेकिन इंटरनेशनल मार्टेक में वीवो का आना 2014 में चालू हुआ जब वीवो थाईलैंड के मार्किट में घुसा, और आज वीवो दुनिया के 100 देशों में फैला हुआ है। 2014 में वीवो लग भग India, Indonesia, Malaysia, Myanmar, Philippiness, Thailand, और Vietnam के मोबाइल मार्टेक में छा गया।

2015 के quarter में Vivo दुनिया के टॉप 10 smartphones मेकर्स कंपनी के लिस्ट में आ गया, जिसने ग्लोबल शेयर मार्किट में 2.7% की हिस्सेदारी हासिल की। 26 नवंबर 2017 को वीवो ने अपने मॉडल्स Y53 और Y65 के साथ रूस, Sri Lanka, Taiwan, Hong Kong, Brunei, Macau, Combodia, और Nepal के मार्केट में भी छा गया। उस टाइम पर वीवो बहुत सारे कंट्रीज में रैपिड ग्रोथ कर रहा था।

 

Vivo के टॉप selling Smartphones in India. 

Mobile (मोबाइल ) Price (कीमत )
VIVO V20 SE 20,990
VIVO V19 22,990
VIVO V20 24,990
VIVO Y31 2021 16,490
VIVO Z1 PRO 128 GB 14,990
VIVO V17 17,990
VIVO Z1 PRO 14,990
VIVO X60 40,000
VIVO U20 11,990

F & Q Vivo kaha ki company hai.

Vivo कंपनी के मालिक, संस्थापक और CEO सब शेन वेई (Shen Wei) ही हैं।
वीवो कंपनी की स्थापना भारत में 2009 में बीबीके इलेक्ट्रॉनिक्स के रूप में हुआ था।
मिक्रोमक्स भारत की मल्टीनेशनल इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी है, जो स्मार्टफोन्स, लैपटॉप्स, कंस्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स और होम appliances बनती है। मिक्रोसेक्स मार्च 2000 में फाउंड हुआ था जिसका headquarters गुरुग्राम, इंडिया में है।
MI एक चीनी कंपनी है। भारत में Xiaomi का पहला फ़ोन 2014 में रिलीज़ हुआ था। भारत में इसका headquarter बैंगलोर में है।

Conclusion

तो दोस्तों उम्मीद करता हूँ की आपने यह पोस्ट Vivo kaha ki company hai पूरा पढ़ा होगा। और यह भी उम्मीद करता हूँ की आप लोगों को अच्छा और informative भी लगा होगा क्युकी हम जो भी लिखतें हैं उसपर पहले पूरा रिसर्च और इनफार्मेशन कलेक्ट करतें हैं उसके बाद ही लिख कर पब्लिश करतें हैं।

तो आज हमने जाना की Vivo kaha ki company hai, इसका मालिक कौन हैं, Vivo का हिस्ट्री क्या है और Vivo इंडिया का CEO कौन है। तो चलिए अब तो आपको वीवो के बारे में अच्छा खासा नॉलेज हो गया। और हाँ अगर आपको इस पोस्ट में कही भी और कोई भी प्रॉब्लम या मिस्टेक लगे तो आप हमे बेझिझक मैसेज या कमेंट कर सकतें हैं हम जल्द से जल्द उस पर एक्शन लेंगे। और अंत में यही कहूंगा की अगर आपको अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के पास शेयर करना ना भूलें।

धन्यबाद

Thank You

 

Leave a Comment